Sunday, August 23, 2009

"मेरे घ्रर आई एक नन्ही परी"


मेरी बिटिया , बहुत इंतजार कराया है इसने पर कहते है ना कि इंतजार का फल मीठा होता है , इसके नन्हे कदमों ने पूरे परिवार मे खुशिया बिखेर दी है , बिटिया के रूप मे लक्ष्मी जो आई है ( इसकी पडदादी ने इसको इसी नाम से पुकारा है )

18 comments:

sada said...

नन्‍हीं परी के आगमन की बहुत-बहुत बधाई ।

http://ladlisada.blogspot.com

Ram said...

Just install Add-Hindi widget button on your blog. Then u can easily submit your pages to all top Hindi Social bookmarking and networking sites.

Hindi bookmarking and social networking sites gives more visitors and great traffic to your blog.

Click here for Install Add-Hindi widget

Dr. Smt. ajit gupta said...

बिटिया के आने पर आपको बधाई। आज मेरी भी बिटिया का जन्‍मदिन है, मैने अपने ब्‍लाग पर एक गीत पोस्‍ट किया है - बिटिया तुम आ गयी। उसे देखे आपको लगेगा कि शायद मेरी बिटिया के लिए ही लिखा है।

Anonymous said...

Congratulations
Rachna

एकलव्य said...

बिटिया के आने पर आपको बधाई...

Anonymous said...

प्रशांतजी
पिछली 17 जुलाई को मैं भी एक लक्ष्‍मी को इस दुनिया में लाने का सौभाग्‍य प्राप्‍त कर चुका हूं याने मेरे घर भी परी आई है,,,जो शब्‍द आपने इस्‍तेमाल किए हैं वही मेरे मोबाइल पर उसी वक्‍त तुरंत डायलर टोन की रूप में लगे थे शायद जब मोबाइल नंबर जिंदा रहे तब तक वही गीत लगा रहेगा मेरे घर आई एक नन्‍हीं परी,,,,चांदनी रथ पे सवार,,,आपको बहुत बहुत बधाई,,,मैं जानता हूं एक बेटी के बाप होने की खुशी क्‍या होती है,,,क्‍योंकि मैंने इस खुशी को महसूस किया है और कर रहा हूं,,,लोग कहते हैं देखिए आगे आगे क्‍या होता है,,,कुछ नहीं होता,,,बेटी की नींद के लिए पापा मम्‍मी जागते हैं पर कभी उफ तक नहीं करते ऐसा लगता है जैसे नींद कोसों दूर चली गई है। इसलिए कि मेरी प‍री को नींद आ जाए। माफ करना जरा सेंटी वेंटी हो गया था। आपको एक बार फिर लक्ष्‍मी के आने की बधाई मेरी दादी कहती थी मैं मर जाउंगी मैंने कहा कहां मरोगी अभी मैं शादी करुंगा फिर तुम्‍हारी पोती आएगी लो आ गई अब मैं कहता हूं कहां मरोगी अभी तो उसे स्‍कूल भेजना फिर कॉलेज दफ्तर और फिर डोली में,,,dharmendrabchouhan.blogspot.com
dharmendrabchouhan@gmail.com

Anonymous said...

प्रशांतजी
पिछली 17 जुलाई को मैं भी एक लक्ष्‍मी को इस दुनिया में लाने का सौभाग्‍य प्राप्‍त कर चुका हूं याने मेरे घर भी परी आई है,,,जो शब्‍द आपने इस्‍तेमाल किए हैं वही मेरे मोबाइल पर उसी वक्‍त तुरंत डायलर टोन की रूप में लगे थे शायद जब मोबाइल नंबर जिंदा रहे तब तक वही गीत लगा रहेगा मेरे घर आई एक नन्‍हीं परी,,,,चांदनी रथ पे सवार,,,आपको बहुत बहुत बधाई,,,मैं जानता हूं एक बेटी के बाप होने की खुशी क्‍या होती है,,,क्‍योंकि मैंने इस खुशी को महसूस किया है और कर रहा हूं,,,लोग कहते हैं देखिए आगे आगे क्‍या होता है,,,कुछ नहीं होता,,,बेटी की नींद के लिए पापा मम्‍मी जागते हैं पर कभी उफ तक नहीं करते ऐसा लगता है जैसे नींद कोसों दूर चली गई है। इसलिए कि मेरी प‍री को नींद आ जाए। माफ करना जरा सेंटी वेंटी हो गया था। आपको एक बार फिर लक्ष्‍मी के आने की बधाई मेरी दादी कहती थी मैं मर जाउंगी मैंने कहा कहां मरोगी अभी मैं शादी करुंगा फिर तुम्‍हारी पोती आएगी लो आ गई अब मैं कहता हूं कहां मरोगी अभी तो उसे स्‍कूल भेजना फिर कॉलेज दफ्तर और फिर डोली में,,,dharmendrabchouhan.blogspot.com
dharmendrabchouhan@gmail.com

premlatapandey said...

बधाई है बधाई!

सैयद | Syed said...

नन्ही परी के आगमन पर बहुत बहुत बधाई

Devendra said...

नन्‍हीं परी के आगमन की बहुत-बहुत बधाई ।

वाणी गीत said...

आपको बहुत बधाई ..बहुत सारा लाड़ दुलार उस नन्ही सी गुडिया को भी ..!

प्रशांत गुप्ता said...

शुभकामना के लिये आप सभी का आभार

Anonymous said...
This comment has been removed by a blog administrator.
Pankaj Gupta said...

lakshmi ko chacha ki taraf se bahut-2 pyar aur dulaar

गर्दूं-गाफिल said...

नन्ही परी जो आई
खुशियाँ हज़ार लाई
लक्ष्मी के आगमन पर
बधाई हो बधाई

शिवम् मिश्रा said...

प्रशांत जी ,
बिटिया के आने की बहुत बहुत बधाई हो |
बिटिया को बहुत बहुत प्यार व आर्शीवाद |
बधाई में देरी के लिए माफ़ी चाहूँगा |
कभी दर्शन दिया करे मेरे ब्लॉग पर भी |
अब आपको शिकायत नहीं होगी |

राजीव जैन Rajeev Jain said...

बहुत-बहुत बधाई ।

राजीव जैन Rajeev Jain said...

बहुत-बहुत बधाई ।